moral story in hindi | बबलू जेंटलमैन : नाच न जाने आँगन टेढ़ा

Share:

बबलू बनेगा जेंटलमैन यह moral story in hindi कहानी है जो आपको बताएगी और सिखाएगी की बुद्धिमान व्यक्ति बनने के लिए यह न करे ।

moral story in hindi
 भागते रहो 


कहानी की शुरवात होती है और हम एक घर को देखते है जिसमे पति ,पत्नी और सभी बहुत ज्यादा गंभीर सोच में है उनके t.v के कुछ चार पांच तारे चूहे ने काट दिए है

अब दिक्कत वाली यह बात की तार कैसे जोड़े यह नही पता

अगर इलेक्ट्रीशियन आता है तो पैसे खर्ज होंगे यह बात पति जिसका नाम गौरव है वो यही सोच रहा है

तभी
Also read : शैतान का जाल

पत्नी जिसका नाम रश्मी है वो कहती है कुछ करो या में जाऊ अपने ससुराल

मैडम थोड़ी परेशान है क्युकी इनका मन पसंद सीरियल आने वाला है अब ये कैसे ठीक होगा

गौरव एक फोन करता अपने दोस्त बबलू को
और थोड़ी देर में एक व्यक्ति आता है और कहता है

हां

हां,

हो जायेगा

Also read : मेरा होमवर्क ( Homework)

इसका नाम बबलू है इसने कटे हुए तार देखा और कहा

बस दो मिनट

उसने अपना दिमाग लगाया इधर का तार उधर , उधर का तार इधर जोड़ दिया

अब बबलू कहता है : देखा भाभी जी हो गया ना

रश्मी: अभी स्विच तो चालू करो फिर पता चलेगा

बबलू ने जैसे ही स्विच चालू किया पूरा अंधेरा और अंधेरा एक ब्लास्ट हुआ t.v के टुकड़े टुकड़े और हर जगह काला धुआं

बबलू उठा और चल भाग बबलू नहीं तो अभी मुंह काला हुआ है थोड़ी देर में पूरा बदन लाल हो जायेगा

Also read : भूतों की पार्टी

बबलू भागा


और पैसे तो थे नहीं तो चलते चलते घर पहुंचता है

और घर जा कर देखता है की दूर से ही गौरव और रश्मी पहले से ही उसके घर पे आए हुए है


रश्मी: देखा तुमने तुम्हारे हर दोस्त ऐशे ही है जब शादी में आए थे तो बारात का  सारा खाना खा लिया था ऐश की  सात जन्म के भूखे हो में नही  छोडूंगी मुझे नया t.v चाहिए ऐ बबलू बाहर निकल,

निकल


बबलू ये सब देख के भागता है और शाम हो जाती है बबलू ने सुबह से कुछ नही खाया


तो अब उससे याद आता है उसका दोस्त रिंकू वोह उसके दोस्त के घर पहुंचता है

अब रिंकू भी समझ जाता है मुझे किया करना है

वोह खाना बनाने जा रहा था तो बबलू कहता है भाई सुबह से कुछ खाया नहीं है में तुम्हारी मदद कर दूंगा खाने बनाने में

अब खाना बन ने के बाद रिंकू छुप कर गौरव को फोन कर देता है अब यह वोह एशा इसीलिए करता है क्युकी कुछ साल पहले उसके बिजली का मीटर बहुत ज्यादा आता था तो रिंकू को लगता है यह खराब हो गया है बबलू शायद ठीक कर दे तो बबलू को रिंकू ने बुलाया था


और ठीक करने को कहा फिर उसने इतनी अच्छी तरह से ठीक किया की रिंकू को जो झटका लगा था और जो शॉर्ट सर्किट हुआ मकान मालिक ने उससे 25,000 रुपए जुर्माना लगाया और बबलू भाग गया था इसीलिए इसने पहले सोच लिया था यह एक दिन बदला लेगा

Also read : खूनी आत्मा का रहस्य 

और आज गौरव के साथ भी यह ही हुवा था

गौरव ने पहले ही अपने सारे दोस्त को सारी बात बता दी थी और कहा था पकड़ने को और यह सारी बात सुन लेता है

अपना बबलू और खाना पैक कर के भागता है

रिंकू पकड़ ता है कहता रुक रुक इतना नुकसान किया तूने


बबलू : अबे वो t.v बहुत पुराना था वो तो होना ही था आज नहीं तो कल

अब बबलू जैसे तैसे भागता है

और अब 

Also read : अनपढ़ भाई : दिलचस्प कहानी


रिंकू सोचता है छोड़ो यार खाना खाया जाए और जैसे ही उसने ढक्कन उठाया थाली में खान रखने के लिए सुभान अल्लाह वोह बंदा ढक्कन

हटाते ही बेहोश

एशा मानो की यह पहले बबलू उस फैक्ट्री में काम करता था जहा बेहोश करने की दवाई बनाई जाती हो


अब कुछ देर में गौरव और रश्मी आते है और देखते है रिंकू नीचे गिरा है तभी गौरव किचन देखता है और कहता है

पक्का ये खाना बबलू ने बनाया होगा भाग रश्मी इतनी गन्दी बदबू की सब बेहोश हो कर नीचे गिर जाते है ।

अब आप होसियार है जब यह

Also read : जीवन का संघर्ष ( the motivational story)

अब आप सोच रहे होंगे जब बबलू को कुछ आता नही था तो रिंकू और गौरव ने बबलू को बुलाया क्यू था क्युकी बबलू उस व्यक्ति का नाम है जिसने एक बार गलती से अपने घर का सही तार जोड़ लिया था और कुछ काम कर लिए थे घर का

फिर उससे अंधा विश्वास हो गया था और हल्ला कर दिया था में यह कर सकता हु वोह कर सकता हु।

Moral of the story:

बबलू जैसा ना बने अगर कोई काम नही आता तो सीखे जाने कैसे किया जाता है इसके वजह से आपके दोस्तों को दिक्कत हो सकती है।

धन्यवाद!

Moral story| Moral story in hindi | moral story for kids 
| Story for reading 





कोई टिप्पणी नहीं