Scary real horror story in Hindi - डरावना सपना। horror story

Scary real horror story in Hindi -डरावना सपना। horror story hindi |

                डरावना सपना

एक डरावना सपने की यह कहानी किया होता है जब एक व्यक्ति एक ही सपना बार - बार देखें जानिए इस डरवाने सपने का राज़ और कैसे यह सपना बनता उसका काल पढ़े यह real horror story in hindi में,

real horror story in Hindi

कहानी की शुरुआत होती है एक रेस्टोरेंट ( restaurant) को हम देखते है जिसमे में हर जगह उथल पुथल मची है , बर्तन नीचे गिरे हुए है हर जगह खून के छीटें है तभी एक महिला आती है,

 जिसका चेहरा साफ नही दिख रहा था वह चाकू अपने हाथ में लेती है और धीरे- धीरे अपने पैर काटने लगती है और उसके बाद अपने शरीर के छोटे छोटे हिस्सो को भी ,

जैसे ही अपने गर्दन को काटने वाली होती है तभी एक व्यक्ति जिसका नाम रोहित है वह कहता है नही, नही

वह अपनी नींद से उठा यह उसका एक सपना था वह पूरी तरह से परेशान हो जाता है एक अजीब सपना

वह मगर ज्यादा नही सोचता और जिस रेस्टोरेंट ( restaurant) में chef ( बावर्ची ) है वहां जाता है अपने सपने के बारे में अपने कुछ दोस्तो को बताता है वह कहते

 
दोस्त : लगता है तूने ज्यादा नशा कर लिया कल रात को ,

रोहित : हां शायद थोड़ा ज्यादा हो गया सही कह रहा है तू

रोहित एक रेस्टोरेंट में काफी बड़ा chef है उसके हाथ का खाना खाने के लिए दूर दूर से लोग आते है उसने बहुत मेहनत की थी उसने एक छोटे से रेस्टोरेंट से बड़े रेस्टोरेंट बनया था  बाकी लोग जलते थे रोहित की सफलता से ,

अब रोहित अपना काम करके अपने घर जाता है और खाना खाने के बाद सो जाता है ,

एक उथल पुथल रेस्टोरेंट खून के छीटें वे महिला फिर अपने शरीर के अंग काटने लगती है ,

रोहित फिर कहता है नही नही ,
वह उठा देखा रात के दो बज रहे थे ,
वह फिर सोचने लगा यह सपने के बारे में किया हो रहा है मेरे साथ में कल भी नही सोया और आज भी नही पता नही किया हो रहा है ,

रोहित : चलो आज इतनी जल्दी नींद खुल ही गई है तो कही घूम लिया जाय वह अपनी गाड़ी से बाहर कहीं घूमने चला जाता है ,
वह अपनी गाड़ी एक जगह रोकता है जहां मंदिर था ,
और सोने की कोशिश करता है , और अच्छी नींद लेता है,
और वही से अपने रेस्टोरेंट जाता है ,

वह देखता है आज सब से ज्यादा कोन से खाने की लिए आर्डर दिया और उसे ही बनता है जब वह अपने घर जा रहा होता है

तो उसे रास्ते में एक बाबा मिलते है वह कहते

बाबा : तू चल मेरे साथ , तू चल मेरे साथ में तुझे बचाऊंगा ,

रोहित : वो बाबा उधर , उधर जाइए
और कुछ पैसे दे कर अपने घर चला जाता है
रोहित फिर सोता है उसे वही सपना आता है और इस बार ऐसा मानो उसका कोई गला घोट रहा है वे बहुत मुश्किल से उठ पता है
रोहित : किया हो रहा है यह सब कुछ समझ नही आ रहा यह डरावना सपना क्यों आ रहा है मुझे बार - बार
छः दिन हो जाते है और रोहित सही से सोया नही था ।

ऐश लग रहा था अगर वह सोया तो यह सपना देख- देख कर मर जायेगा , 

या बिना सोए मर जायेगा उसे कुछ समझ नही आ रहा था यह सब किया हो रहा है ।

जब वह कहीं जा रहा था तो वह एक बाबा को देखता है जिनसे वह कुछ दिन पहले मिला था
उससे याद आता है यह बाबा कह रहे थे वे बचाएंगे मुझे

रोहित परेशान हो कर उस बाबा के पास जाता है बाबा मुझे बचा लो,

बाबा : मुझे पता था तू मेरे पास जरूर आएगा जब बिना सोए हो जायेगा तेरा बेहाल

रोहित : में किया करूं बाबा मुझे बचा लो

बाबा : चल मेरे आश्रम
रोहित और बाबा , बाबा के आश्रम जाते है और कहते है बता मुझे अपने सपने के बारे में

रोहित : बाबा में जब भी सोता हु मुझे एक डरावना सपना आता है इस भूतिया सपने से में परेशान हो गया हु मेरे सपने में एक रेस्टोरेंट आता है जहां हर जगह उथल - पुथल मची है हर जगह खून के छीटें है और एक महिला आती धीरे धीरे अपने शरीर के अंग जैसे पैर, हाथ , कान काटने लगती है यह तक अपना गर्दन भी


बाबा : यह एक डरावना सपना नही है बल्कि यह सपना का अर्थ है तुम ज्यादा समय तक जीवित नही रहोगे


रोहित : बाबा मुझे बचा लीजिए , मुझे बचा लीजिए

बाबा : एक काम कर तुम यह सोने की कोशिश करो में यही हु ,


रोहित सोने की कोशिश करता है और उसका सपना में अब सब सही था वह सपना देख रहा था की उसके रेस्टोरेंट में भीड़ है सब उसके हाथ का ही खाना चाहते
मगर जब वह उठता है तो देखता है को अदृश्य शक्ति बाबा पे हमला कर रही है बाबा को चाकू से मरने वाली है रोहित इधर उधर सामना फेंकने लगा है बाबा बहुत मुश्किल से बच पाते है
रोहित : बाबा यह सब किया हो रहा था

बाबा : यह बहुत शक्ति शाली आत्मा है यह तुम्हे जीने नही देगी में भी बहुत मुश्किल से बचा हु अगर तुम नहीं उठते तो शायद में नहीं बचता

रोहित : बाबा में किया करूं मुझे बताए
बाबा कहते हमे मेरे गुरु जी के पास जाना चहिए अब वह ही कुछ कर सकते है ,
रोहित में चलूंगा मुझे कोई दिक्कत नही है अभी चलते है
कुछ समय पश्चात्
बाबा और रोहित पहुंचते है गुरू जी के पास जिनका नाम रामेश्वर है ,
रोहित पहुंचते ही उनके पैर पकड़ लेता और कहने लगता बाबा मुझे बचा लीजिए
 
रामेश्वर गुरू  : चिंता मत करो अगर तुमने कुछ नहीं किया तो कुछ भी नही होगा तुम्हे

बाबा जिनसे रोहित पहले मिला था उनका नाम शरेश है और रामेश्वर गुरू जी दोनों कहते तुम सोने की कोशिश करो ,

रोहित सोता है , रामेश्वर गुरू और बाबा शरेश दोनो कोई विधि करते है वह आत्मा आती है आप दोनों मेरे बीच में ना आए में इससे मार के ही मेरा बदला लूंगी ,
रामेश्वर : कैसा बदला और इसने तुम्हारा किया बिगड़ा है

वह आत्मा बताती है ,
4 साल पहले की बात है,

real horror story in Hindi

में और मेरा परिवार बहुत खुश थे में और मेरा पति और हमारे दो बच्चे रोहतास और शिंटू हम सभी ने तय किया आज के दिन बाहर खाने जाते है इस शाम को मगर हमे किया पता था यह हमारी आखरी शाम थी ,

हम लोग एक छोटे से रेस्टोरेंट में गए थे वह रेस्टोरेंट छोटा था मगर 3 chef ( बावर्ची ) की वजह से वह चलता था और उन्ही बावर्ची की वजह से उस छोटे रेस्टोरेंट में लोग खाना खाने आते थे ,
 
हम लोग वहां गए हम सभी ने खाना आर्डर किया उस रेस्टोरेंट में कुल 11 लोग थे हम सभी को खाना का स्वाद थोड़ा अच्छा नही लगा इस बार ,

हम दो बातें कह के वहां से जाने लेंगे तभी दो लोग वहां नीचे गिर गए और हमारा छोटे बेटा शिंटु भी हमे लगा बेहोश हो गया मगर
अच्छे से चेक किया तो जो भी नीचे गिरे थे वे सब अब जीवित नही थे ,

एक व्यक्ति जो chef था वह कहने लगा देखा मेने कहा था यह खतरनाक हो सकता है ,
और भाग गया ,

एक व्यक्ति ने कहा यह सब इस खाने से हुआ है

हम सब ने chef को धमकाया तो पता चला यह लोग खाने में कुछ केमिकल डाल ते थे जिससे खाने में स्वाद और आए और जो भी खाना खाएं वह बार - बार यहां आए,

मतलब वे कुछ नसीले पदार्थ का इस्तेमाल करते थे , मगर इस बार उन्होंने कुछ ज्यादा ही डाल दिया था

जिससे सभी खुश नहीं थे , और 2 लोग और एक बच्चे की मृत्यु हो गई थी हम सब बाहर भागने लगे मगर , एक chef जिसने उसकी बर्बादी देखी उसे लगा यह रेस्टोरेंट अब बंद हो जायेगा हम जेल में होंगे हमारा पूरा नाम बर्बाद उसने और एक दूसरे chef ने मिल के रेस्टारेंट के दरवाजे बंद कर दिए 

और हम सब के पकड़ के मार दिया गया और हम सब के छोटे छोटे टुकड़े कर के जानवरों को खिला दिया गया ,

रामेश्वर गुरू : तुम्हारे साथ जो भी हुआ बहुत बुरा हुआ मगर इसमें इस रोहित की किया गलती है

आत्मा : वह व्यक्ति जिसने खाने में केमिकल डालने का सोचा और किया वह chef रोहित ही है और अपनी बर्बादी से बचने के लिए हम सब का यह हाल किया ,

  रोहित नींद से उठता है,


रामेश्वर गुरू : तुमने कुछ साल पहले 11 लोगो को मारा था

रोहित : नही, नहीं यह सब झूठ है , अब बस मुझे बचा लिजिए

रामेश्वर कहते है तुम्हारे चेहरे की हरकत बता रही है
अब हम कुछ नही कर सकते,


मेने तुम से पहले ही कहा था अगर तुमने कुछ नहीं किया तो तुम्हे कुछ नहीं होगा

एक आवाज आती है

आत्मा : कृपया कर के आप दोनों मुझे अपना काम कर ने दे

रामेश्वर और बाबा शरेश उसे एक कमरे में छोड़ देते है और बाहर चले जाते है ,

रोहित : मेरे पास बहुत पैसा है बहुत पैसा में सब आपको दे दूंगा मुझे बचा लो

रामेश्वर गुरू : शरेश शायद बहुत ज्यादा ही पैसे है इसके पास उसे बता दो इसकी एक चवन्नी भी काम नही आएगी ,

दोनों हस्ते हुए बाहर चले जाते है

वह आत्मा बिलकुल उसी सपने की तरह रोहित का बुरा हाल कर देती है उसे के शरीर के छोटे छोटे टुकड़े करने लगती और बीच में कहती है यह हिस्सा जंगली कुत्ते का ये हिस्सा चूहे के लिए , और यह बचा हुआ हिस्सा जंगली मगरमच्छ को फेंक देती है ।

और साथ ही साथ उसका रेस्टोरेंट भी बंद हो जाता है ।
क्योंकि रोहित के साथ एक और chef जो इनमे शामिल था उन्होंने पुलिस को बता दिया था चार साल पहले उन्होंने किया - किया था ।
मगर इन सब के बाद भी वह आत्मा उस दूसरे  chef को नही छोड़ती क्योंकि वह chef भी रोहित के साथ था और उसने भी उस 11 लोगों को मौत के घाट उतारने में रोहित की मदद की थी ।

कहानी से सिख : 

यह real horror story hindi कहानी से हम सीखते है अगर आपने किसी के साथ बुरा किया है तो आपके साथ भी बुरा ही होगा भले ही उसमे थोड़ा समय लग जाए । हम जितना ही अपनी गलती को छिपाए वह बाहर आ ही जाता है ।

निष्कर्ष : 

दोस्तों, मैं आशा करता हूँ कि आपको "scary real Horror Story In Hindi में डरावना सपना " शीर्षक वाली यह Real Horror Story पसंद आई होगी। ऐसी और भी Real horror Story In Hindi में  पढ़ने के लिए, हमारे ब्लॉग www.kahaaneedamdar.com पर बने रहे।



टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट