kahani suno | Horror story in hindi| | इच्छा अमर होने की


Kahani suno| Horror story in hindi


Kahani suno आज के समय में हर कोई चाहता है लंबी उमर और जवानी की तरह जीना और किया हो जब एक बाबा को ज्ञान हो जाए की कैसे अमर होना है आज की कहानी horror story in hindi में जानें
Kahani suno

एक आत्मा जो किसी के घर में जा रही और उसको खंजर से गाला काट देती है और उसकी हाथ की छोटी उंगली काट कर अपने साथ ले जाती है

और एक पर्ची निकलती है और कहती है अब पांच और बाकी है बस

अब सुबह हम एक बच्चे को देखते है जिसका नाम रेहान है

और वो स्कूल जाने के लिए तैयार हो रहा है आज वो बहुत दिन बाद स्कूल जा रहा है क्युकी इसकी सेहत खराब थी दो हफ्तों से तो आज वो बहुत ज्यादा खुश है क्योंकि वो अपने दोस्तों से भी मिलेगा बहुत दिन बाद

Also read : रजनी का भूत

थोड़ी देर बाद स्कूल पहुंच जाता है मगर उससे कोई बात नही करता क्योंकि सेहत खराब होने से पहले रेहान ने अपने दोस्तो से लड़ाई की थी


वो उदास हो कर घर आता है और बीच रास्ते में पुराना एक छोटा पार्क देखता है ( जिसमे लोगो का जाना माना है एक बोर्ड पर ऐसा लिखा होता है )

और वहा जाने का सोचता है मगर वो जाता नही है
अब वो घर पहुंचता है सोचता है शाम को बात करनी होगी
रेहान शाम को खाना खाते वक्त कहता है
मां ,पिता से मुझे साइकिल चाहिए में घर अकेले आता हु मुझे डर लगता है मां, और मेरे दोस्त भी अब अलग अलग आते है 


पिता जी बोलते है बेटा कोई नही कुछ दिन रिक्शा से आना अगले महीने पैसे मिलेंगे तो खरीद देंगे मगर नही इसकी जिद्द की मुझे कल ही चाहिए

और खाने से उठ कर भाग जाता है और उसी पार्क में जा कर बैठ जाता है जो पार्क उसने स्कूल से घर आते वक्त देखा था

तभी हम एक आदमी को देखते जो कब उसके पास आ गया और पास बैठ गया पता नही चलता और वो कहता है रेहान को किया हुआ कियू रो रहे हो

रेहान: मेरे पिता और मां प्यार नही करते मुझ से और मेरा कोई दोस्त भी नही है


अब वो आदमी अपना नाम उससे सहदेव बताता है और कहता है ऐसा नही है तुम्हारे मां,पिता बहुत प्यार करते है तुम से ये लो चॉकलेट खा लो तभी रेहान के मां ,पिता आ जाते है उससे दूंढते हुए और रेहान सहदेव को बाय बाय कहता है 

मगर उसके मां पिता को समझ नही आता की ये किसे बाय कर रहा है ,और तभी सहदेव उनके साथ उस पार्क से बाहर निकलने की कोशिश करता है 

मगर बाहर जा नही पता और एक शक्ति उससे पीछे कर देती है
और रेहान और उसके पिता और मां घर पहुंच जाते है

अब हम उसी आत्मा को देखते है जिससे हमने पहले देखा था वो फिर किसी के घर में जाता है और इस बार दो लोगो को खंजर से मार देता है और उनके हाथ की उंगली काट कर साथ ले जाता है 
और पर्ची निकल के कहता है बस दो अब बस दो बच गए है और हस्ता हुआ आगे बढ़ता है ।

Also read : पप्पू के किस्से ( Mera Homework) 


अब अगली सुबह हम फिर रेहान को देखते है और उसके पिता कहते है बेटा

अगले महीने पक्का ला देंगे ठीक है चिंता मत करो बस कुछ दिन दिक्कत कर लो और ये कहते हुए रेहान को स्कूल छोड़ देते है और खुद ऑफिस चले जाते है अब आज रेहान खुश था

उसने कल वाला सारा काम कर लिया था और उससे कोई चिंता नहीं चाहे उससे कोई बात करता हो या न अब छुट्टी के बाद रेहान उसी पार्क में जाता है

और सहदेव मिलता है और कहता है कल तुमने मुझे चॉकलेट दिया था अच्छा था

सहदेव कहता : तुम्हे और चाहिए

रेहान : हां

सहदेव : एक काम करो ये पार्क के चारों तरफ एक धाग बांधा हुआ उसे खोल दोगे तो इस बार में तुम्हे 2 चॉकलेट दूंगा

रेहान: ठीक है

अब रेहान वो धागे खोल देता है और बड़ी आसानी से सहदेव रेहान के साथ निकल जाता है इस पार्क से

और रेहान को चॉकलेट दे कर कहता है घर जाऊ अभी में बाद में मिलता हु अब सहदेव सीधा जाता है एक बाबा के पास जिसका नाम हरी है

और कहता है ये तुमने ठीक नही किया में तुम्हे मार दूंगा तभी वो आत्मा आती है जो लोगो को मार रही थी और उनकी उंगली काट रही थी और वो अपने साथ एक और उंगली लाती है

हरी : हा , हा ये ही चाहिए मुझे बस एक और चाहिए अब एक बलि और चाहिए


सहदेव : तुम्हे लगता है ये बलि दे कर तुम अमर हो जाओगे नही में ऐश नही होने दूंगा
अब वोह आत्मा जिसका नाम रिशी है सहदेव को मारने लगता है है और दोनो के बीच खूब लड़ाई होती है सहदेव कहता है जब इसका काम निकल जायेगा तो यह तुम्हे भी मार देगा

अब हमे पूरी कहानी समझ आती है सहदेव बाबा हरी का विधार्थी था और सहदेव को पता चल गया की ये बाबा हरी अमृत के पाने के लिए लोगो की बलि दे रहा था

तो इसने सबके सामने इस बाबा का सच बताने निकला मगर इसने मुझे मरवा दिया और मेरी भी एक उंगली काट कर अपने पास रख ली मगर पता नही कैसे मेरी आत्मा यहां रह गई

यह बात इस बाबा को पता चला तो मुझे उस पार्क में कैद कर दिया मगर वो रिशी नही सुनता और खंजर निकल के मारना शुरू करता है तभी

सहदेव गीता के कुछ श्लोक पढ़ता है और तभी हवाएं तेज हो जाती है और सहदेव से एक अदृश्य शक्ति निकलती है और रिशी का खात्मा कर देती है अब हरी बस तुम्हारी बारी है


बाबा हरी कहता है : में तुम्हारा गुरु हु और मेने ही ये विद्या सिखाई है तुम्हे

सहदेव : हा मगर गुरु कितना ही बड़ा हो चाहे कितना ज्ञानी हो गलत दिशा की और जो चलता है सब का अंत होता है भगवान श्री राम ने रावण का वध किया था में तुम्हारा करूंगा

बाबा हरी और सहदेव दोनो एक दूसरे को टक्कर दे रहे है और दोनो के पास कुछ शक्तियां थी सहदेव फिर से गीता से। एक श्लोक पढ़ता है और जय श्री राम कहता है 

एक बड़ी ही अदृश्य शक्ति आकाश से आती है और बाबा हरी पर गिरती है और उसका वध हो जाता है 


और आखिर बार सहदेव रेहान से मिल कर उससे सीखता है मां,पिता की हमेशा इज्जत करो और उनकी बाते माननी चाहिए और यह कहने के बाद वो धरती से अलविदा लेता है ।

Conclusion:-

 kahani suno आज की ये कहानी hindi horror story में हमने ये जाना गलत दिशा में जा कर जो आगे बढ़ने की

कोशिश करता है उसका अंत निश्चित है । चाहे वो कितना बड़ा विद्यमान हो । 

Phrases with Hindi meaning 

# जब किसी व्यक्ती को कोई काम नहीं आता मगर वो सब में अपना हाथ डालता हो 

Eng:   jack of all trade

Ex- My sister completed her homework and my brother also she is Jack of all trade 

Share with your friends 😀




टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट