भूतिया कुत्ता: एक भूतिया घटना | bhutiya kutta | bhoot story



भूतिया कुत्ता: एक  भूतिया घटना | bhoot story 




गाँव ताज़पुर में एक छोटे से परिवार का बड़ा खुशियों भरा संघ था। रात्रि के वक्त उनका घर गाँव के अंधेरे कोनों में सुनसान लगता था, जब सभी लोग अपने घरों में नींद की गहरी गोद में सोते थे।

 लेकिन इस सुकून से भरे गाँव की ख़ामोशी के पीछे एक भयानक और रहस्यमय सच्चाई छुपी हुई थी। 
 
Bhutiya kutta
Bhutiya kutta


गाँव में एक कुत्ता रहता था, जिसका नाम 'रम्प्या' था। यह कुत्ता सभी लोगों के दोस्त था, लेकिन रात्रि के समय, उसका व्यवहार कुछ अजीब था। लोग कहते थे कि रात के समय रम्प्या अलग अंदाज़ में होता था, जैसे कि कोई अंजान शक्ति उसे अपने वश में ले लेती है।

 इसलिए, जब भी रात की गहराइयों में कुछ अजीब महसूस होता, तो लोग कहते थे कि यह रम्प्या का काम है।


एक दिन, गाँव में एक नातिके का भूतिया कुत्ता के बारे में सुनकर गप्पें होने लगी। लोगों के बीच में डरावनी कहानियाँ फैलने लगीं और उनका मन घबराने लगा। लेकिन इस सबके बावजूद, रम्प्या का मालिक, रामु, उन सभी बातों को अविश्वसनीय मानता था।

 उसे लगता था कि यह सभी बस एक अफवाह है, और कोई भूतिया कुत्ता असल में मौजूद नहीं है।



एक रात, गाँव में कुछ अजीब घटनाएँ होने लगीं। कुछ लोगों की गाड़ियों के अंदर कुछ अनजान आवाजें सुनाई दीं और कुछ लोगों के घर के सामने अजीब निशान देखे गए। 

लोगों के बीच उत्सुकता की अफवाहें फैल गईं और उनके अंदर एक अजीब सी डर फैला।


उस रात, रामु ने अपने गाँव के चोराहे पर गार्ड करने का निर्णय किया। वह रम्प्या के साथ लगा हुआ था, और दोनों ने अपने चोराहे की रक्षा करने का फैसला किया। लेकिन जैसे ही रात का पर्दा गिरा, रम्प्या अदृश्य हो गया।


रामु ने बड़े ध्यान से गाँव के चारों ओर देखा, लेकिन रम्प्या कहीं भी नहीं दिखा। तभी, अचानक, एक भयानक आवाज सुनाई दी, और वह


रामु के अंदर भय का आदर्श उत्पन्न हो गया। उसने विशाल अँधेरे में आवाज़ के स्रोत की ओर देखा और धीरे-धीरे उसके पास चला गया। जब वह उस जगह पहुंचा, तो उसने कुछ आश्चर्यजनक देखा।

Also read : bhutiya haveli ( भूतिया हवेली) 



वहां, भूतिया कुत्ता रम्प्या खड़ा था, और उसके आसपास कई और कुत्ते भी थे, जिनकी आँखों में अजीब चमक थी।

 ये सब कुत्ते अपने आप में अदृश्य थे, लेकिन उनका रौशनी की तरह चमकना डरावना था।


रामु ने अपने दिल की धड़कनों को नियंत्रित किया और धीरे-धीरे आगे बढ़ा। उसने देखा कि ये सभी कुत्ते एक किस्म के साइकिलिक आवाज़ में घूम रहे थे, जैसे कि उनकी एक अद्भुत रस्म थी।


तभी, उन कुत्तों की सभी आँखें रामु की ओर मुड़ी, और एक अद्भुत चमक में बदल गईं। उसकी हालत अब भयानक थी, क्योंकि अब उन्होंने महसूस किया कि वह अपने अंदर कुछ अजीब मानवता का अनुभव कर रहा है।

Also read : 7+ real horror story in Hindi 



रामु ने एक खोज में अपने गाँव में ये सभी देखे गए भयानक घटनाओं के बारे में सोचा, और उसने एक नई तथ्य का पता लगाया। ये सभी कुत्ते असल में उसी गाँव के लोगों के पुराने और अपार्थिव आत्माओं की आवाज़ थे, जो उस जगह में बंधे हुए थे।


इस घटना के बाद, रामु ने लोगों को समझाया कि वहां के भूतों की आवाज़ उनके ही थीं, और उन्होंने उनके वास्तविकता को समझा। लोगों ने रामु की बातों को सुना और समझा, और उनके मन में साहस की नई किरण जगी।


इस भूतिया कुत्ते की कहानी ने उनकी धार्मिक और सामाजिक धारा को भी बदल दिया। अब, गाँव वालों ने इसे एक भाग्यशाली समय के रूप में स्वीकार किया, और वे अब अपने जीवन को साहस और विश्वास के साथ निर्माण कर रहे थे।

Also read : संघर्ष ( The motivational story) 



Moral of the story 


इस कहानी से हमें यह सिखने को मिलता है कि डर को मिटा सकते हैं, जब हम उसका सामना करने के लिए अपनी विचारशीलता और साहस का सहारा लेते हैं। भूतिया कुत्ते की यह कहानी हमें यह भी बताती है कि अक्सर हमारी समझ से बाहर की रहस्चीम्या चीजें।

निष्कर्ष :


 दोस्तों, मैं आशा करता हूँ कि आपको "Horror Story In Hindi" शीर्षक वाली यह Real Horror Story पसंद आई होगी। ऐसी और भी Real Ghost Stories In Hindi में सुनने के लिये और पढ़ने के लिए, हमारे ब्लॉग www.kahaaneedamdar.com पर बने रहे।



टिप्पणियाँ

लोकप्रिय पोस्ट